विदेशों से भारतीय लोगों को वापस लाने की उड़ानों में कम से कम 24-48 घंटों की देरी

12 देशों में 64 उड़ानों को भेजने की सरकार की योजना को बुधवार को 24 से 48 घंटे के लिए स्थगित करने के बाद विदेशों में हजारों भारतीयों के घर लौटने का इंतजार थोड़ा लंबा हो गया है। कई सरकारी स्रोतों ने पुष्टि की कि देरी इसलिए हुई क्योंकि एयर इंडिया के चालक दल को COVID-19 परीक्षणों से गुजरना आवश्यक है।

एक सरकारी अधिकारी ने कहा की गंतव्य देशों में चालक दल को COVID-19 नकारात्मक होने की आवश्यकता होती है। बहुत अधिक संख्या में पायलट और केबिन क्रू हैं जिन्हें एक छोटे नोटिस पर परीक्षण से गुजरना आवश्यक है।

मूल योजना के अनुसार, छह देशों की उड़ानें 7 मई को उतरने वाली थीं, लेकिन अब या तो 8 या 9 मई को आएंगी।

7 मई को सुबह 4 बजे, सैन फ्रांसिस्को से मुंबई पहुंचने के लिए निर्धारित फ्लाइट की पहली उड़ान, अब 48 घंटे की देरी से होगी।

इसी तरह, एक फ्लाइट जो 7 मई को दोपहर 1 बजे वाशिंगटन डीसी से दिल्ली आने वाली थी,अब 9 मई को आएगी।

लंदन से आने वाली पहली फ्लाइट 7 मई को दोपहर 1.30 बजे मुंबई आने आने की जगह अब दो दिन बाद भारतीयों को वापस ला पायेगी।

इस देरी का सरकार द्वारा चलाई गई पूरी सात-दिवसीय योजना पर व्यापक प्रभाव पड़ेगा। यह पहले 13 मई को समाप्त होने वाला थी।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बुधवार को ट्वीट किया, “एयर इंडिया आवेदन प्राप्त करने, टिकट जारी करने और उड़ान संबंधी गतिविधियों को संभालने के लिए नामित एजेंसी होगी”।

Leave a Comment

शाहरुख खान की बेटी सना सईद ने की सगाई ऑफ शोल्डर जिम सूट में कबीर बेदी की नातिन का फोटोशूट वायरल 12 साल की खुशहाल ज़िंदगी के बाद हुआ सानिया मिर्ज़ा और शोएब मलिक का तलाक़ दीवाली पर अब तक का सबसे बड़ा ऑफर, आप सिर्फ 50 रूपये में खरीद सकते हैं सोना, जानिए कैसे?