लोकसभा सदन में आमने-सामने आये शाह-ओवैसी, हुआ कुछ ऐसा..

लोकसभा में आज देश की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी को ज्यादा ताकत देने वाला संशोधन बिल पेश किया गया। दोनों पक्षों में इस संशोधन बिल पर जमकर चर्चा हुई। चर्चा के दौरान कई बार सदन में हंगामे जैसा माहौल भी बना। आपको बता दें कि इस संशोधन बिल पर चल रही चर्चा में गृहमंत्री अमित शाह और हैदराबाद लोकसभा सीट से सांसद असदुद्दीन ओवैसी आमने-सामने आ गए।

ओवैसी और शाह सदन में आए आमने-सामने

दरअसल इस मामले में जब सरकार की तरफ से बीजेपी के सांसद सत्य पाल सिंह बोल रहे थे तो उनके भाषण के दौरान एआईएमआईएम के सांसद असदुद्दीन ओवैसी बीच में ही खड़े हो गए। बीजेपी सांसद के एक बयान पर असदुद्दीन ओवैसी ने आपत्ति जताई लेकिन जब असदुद्दीन ओवैसी ने बोलना शुरू ही किया था तो गृह मंत्री अमित शाह उठकर खड़े हो गए और उन्होंने असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधते हुए कहा कि ओवैसी साहब सुनने की भी ताकत रखिए जब ए राजा बोल रहे थे तब आप क्यों नहीं खड़े हुए।

कहा- सदन में सिर्फ बोलना नहीं सुनना भी सीखें

ग्रह मंत्री अमित शाह ने सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि ऐसे नहीं चलेगा, सुनना भी पड़ेगा। इस दौरान बीजेपी और एआईएमआईएम के सांसद के बीच आमना सामना हो गया। दरअसल गृह मंत्री अमित शाह का कहना था कि जब 2 सदस्य बोल रहे हो तो किसी को भी बीच में नहीं बोलना चाहिए। मैं किसी को डरा नहीं रहा हूं यह बात आपके जहन में है तो क्या किया जा सकता है।

भारत में आतंकवाद है राजनीतिक मुद्दा

दरअसल जब बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह ने कहा कि भारत जैसे देश में आतंकवाद इसलिए ज्यादा फल फूल रहा है क्योंकि हम उसे राजनीतिक चश्मे से देख रहे हैं। जबकि हमें इसका सामना मिलजुलकर करना चाहिए। इस दौरान ने कहा कि मुंबई इस देश का ऐसा शहर है जिसमें आतंकवाद को खूब झेला है। क्योंकि वहां भी इसे राजनीतिक एंगल से ही देखा जाता है। हैदराबाद धमाकों में जब पुलिस ने कुछ अल्पसंख्यक समुदायों से आने वाले संदिग्धों को पकड़ा तो सीधे मुख्यमंत्री ने कमिश्नर को ऐसा ना करने की हिदायत दी थी।

Leave a Comment