अपने पुराने तेवर में आए अकबरुद्दीन ओवैसी, फिर किया ’15 मिनट’ वाले बयान का ज़िक्र

image source: google

बीते कुछ सालों में हैदराबाद के संसद असद ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन की लोकप्रियता में काफी इजाफा हुआ है और अब ओवैसी बंधू अपनी पार्टी का विस्तार करने की कोशिश में लगे हुए हैं. इस लोकसभा चुनाव में उन्हें कामयाबी भी मिली और महाराष्ट्र के औरंगाबाद से पार्टी के उम्मीदवार ने जीत दर्ज की. इसके साथ अब पार्टी के लोकसभा में दो सदस्य हो गये हैं.

मॉब लिंचिग पर बोले अकबरुद्दीन ओवैसी

बहरहाल, फिलहाल पार्टी का विस्तार तो हो ही रहा है लेकिन उसकी छवि जस की तस बनी हुई है. अब असद के छोटे भाई और अक्सर अपने विवादित बयानों की वजह से चर्चा में रहने वाले अकबरुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर अपना वह बयान लोगों को याद दिलाया है जिसमे उन्होंने 15 मिनट के लिए पुलिस को हटाने की बात कही थी. आपको बता दें कि इस मामले में उनके खिलाफ केस भी चल रहा है और मामला फिलहाल कोर्ट में है.

अपने पुराने बयान का किया ज़िक्र

बहरहाल, हाल ही में अपना इलाज करवाकर लंदन से वापस लौटे अकबरुद्दीन ओवैसी तेलंगाना के करीमनगर में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान वह देश में लगातार हो रही मॉब लिंचिंग की घटना पर बोल रहे थे. लेकिन इस बीच उन्होंने कुछ ऐसा बोल दिया जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी. दरअसल उन्होंने अपने पुराने बयान का ज़िक्र कर डाला और कहा कि उनके इस बयान से अभी भी काफी लोग दहशत में हैं.

अब भी दहशत है बरक़रार

उन्होंने आगे यह भी कहा कि आरएसएस से लेकर यह जो तमाम हिंदुत्ववादी संगठन हैं इनसे डरने की ज़रुरत नहीं है. अब उनके इस बयान को लेकर एक बार फिर से चर्चा होने लगी है और लोग इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. आपको बता दें कि अपनी बिमारी की वजह से कुछ समय पहले ही अकबरुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि यह उनका आखिरी चुनाव है और खराब सेहत की वजह से अब वह चुनाव नहीं लड़ेंगे.